गावस्कर क्यों कर रहे हैं गांगुली को बीसीसीआइ अध्यक्ष बनाने की वकालत

बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को सुप्रीम कोर्ट द्वारा हटाए जाने के बाद अब सबसे बड़ा सवाल ये है कि अब क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था की कमान कौन संभालेगा. इस दिशा में कई नाम दौड़ में चल रहे है. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने इसके लिए सौरव गांगुली का नाम सुझाया है.

Image result for gavaskar and ganguly

गांगुली हो सकते है अच्छा ऑप्शन-

सुनील गावस्कर ने कहा कि बीसीसीआई की कमान सँभालने के लिए सौरव गांगुली सबसे अच्छा आप्शन हो सकते हैं.

गावस्कर ने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम से भारतीय क्रिकेट बोर्ड की छवि को काफी नुकसान पहुंचा हैं.

Image result for gavaskar and ganguly

उन्होंने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम से दुनियाभर में बीसीसीआई की छवि ख़राब हुई है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अब भारतीय क्रिकेट का एक नया चेहरा शुरू हो रहा है.

ये भी देखें   ज़बरदस्ती एटीएम में घुसने पर , जनता ने कर दी पुलिस वाले की पिटाई

उन्होंने कहा, ‘एक बार जब सुप्रीम कोर्ट ने फैसला ले लिया तो उसे स्वीकार किया ही जाना चाहिए.’

गावस्कर ने कहा कि अच्छी बात यह है कि खिलाड़ी भी राज्य बोर्ड के चुनाव में भाग ले सकेंगे.

उन्होंने कहा, ‘बीसीसीआई के पास अच्छी बेंच स्ट्रेंथ है जो बड़ी भूमिका निभा सकती है.’

उन्होंने याद दिलाया जब 1999-2000 में भारतीय क्रिकेट मैच फिक्सिंग के जाल में फंसा हुआ था तब गांगुली ने टीम की कमान सौंपी गई और उन्होंने सब कुछ बदलकर रख दिया.

सुनील गावस्कर ने कहा है कि बीसीसीआइ की कमान संभालने के लिए सौरव गांगुली सबसे अच्छा ऑप्शन हो सकते हैं।

नई दिल्ली, जेएनएन। सुप्रीम कोर्ट द्वारा बीसीसीआइ के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को हटाने के बाद बड़ा सवाल यह है कि अब क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था की कमान कौन संभालेगा।

इस दिशा में कई नाम दौड़ में चल रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावसकर ने इसके लिए सौरव गांगुली का नाम सुझाया है।

गावस्कर ने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम से भारतीय क्रिकेट बोर्ड की छवि को काफी नुकसान पहुंचा है। गावस्कर ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि इस पूरे घटनाक्रम के बाद दुनियाभर में बीसीसीआइ की छवि खराब हुई है।

Image result for gavaskar and ganguly

हालांकि, इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अब भारतीय क्रिकेट का एक बिल्कुल नया चेहरा शुरू हो रहा है।

गावस्कर ने कहा, ‘एक बार जब सुप्रीम कोर्ट ने फैसला ले दिया तो उसे स्वीकार किया ही जाना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि अच्छी बात यह है कि खिलाड़ी भी राज्य बोर्ड के चुनावों में भाग ले सकेंगे।

गावस्कर ने कहा है, ‘बीसीसीआइ के पास अच्छी बेंच स्ट्रेंथ है जो बड़ी भूमिका निभा सकती है। एक नाम जो मेरे जेहन में आता है वह है सौरव गांगुली। याद कीजिए 1999-2000 में जब भारतीय क्रिकेट मैच फिक्सिंग के जाल में फंसा हुआ था, गांगुली को टीम की कप्तानी सौंपी गई और उन्होंने सब कुछ बदलकर रख दिया।

 

कृपया आगे शेयर करें :

Related posts:

4 Comments

  1. F*ckin¦ remarkable things here. I¦m very happy to peer your post. Thank you so much and i am having a look forward to touch you. Will you kindly drop me a e-mail?

Comments are closed.