काटे महिलाओं के बाल ।।।

युवतियों व महिलाओं के सिर के बाल काट लेने की अफवाह थमने का नाम ही नहीं ले रही है। सोशियल मीडिया पर एक पखवाड़े से अलग-अलग स्थानों की घटनाओं को जोड़कर भेजे जा रहे संदेशों से आमजन में भय का माहौल है। हालांकि पुलिस थाने में अब तक किसी ने इस संबंध में कोई शिकायत नहीं की है।इसी बीच सोमवार को वार्ड 9 के निवासी 15 वर्षीय शमीम बानू के सिर के बाल काटे जाने के बाद बदहवास हालत में उसे राजकीय अस्पताल में भर्ती किया गया है। युवती के भाई आबिद ने अस्पताल में बताया कि सोमवार दोपहर 12 बजे शमीम टीवी देख रही थी। अचानक टीवी गिर गया। जिससे वह अचेत हो गई, जब होश आया तब सिर के बाल कटे मिले। इसकी चर्चा शहर में फैलते ही अस्पताल में लोग एकत्रित हो गए। अस्पताल में सुरक्षा के लिए तैनात पुलिसकर्मी पवन कुमार को भीड़ को हटाने के लिए मशक्कत करनी पड़ी। वार्ड नौ के पार्षद प्रतिनिधि आवेश राव व एक अन्य पार्षद इकबाल खां को भी भीड़ को समझाईश करने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

ये भी देखें   पीएम मोदी की ग्रेजुएशन की डिग्री की होगी जांच, CIC ने दिया निर्देश

वार्ड आठ निवासी कालू छींपा ने बताया कि भतीजे इकबाल की पत्नी फरजाना (30) के सिर के मामूली बाल रविवार को कब काट लिए गए, पता ही नहीं चला। फरजाना शाम को जोगलिया गांव से बस में, बाद में ऑटो में आई थी। घबराई फरजाना सोमवार को वापस अपने पीहर चली गई।वार्ड आठ निवासी राजू ने बताया कि उसके छोटे भाई की पत्नी दौलत के बाल काटे जाने का पता सोमवार सुबह चला। दौलत को उसका पति इलाज के लिए निजी अस्पताल में ले गया।

बाल काटने जैसी बातें मात्र अफवाह या शरारत हैं। थाने में इस तरह की एक भी सूचना नहीं मिली है।राजेंद्रकुमार, एएसआई पुलिस थाना, सुजानगढ़।भर्ती युवती के हिस्ट्रीरिया रोग है। बाल काटने जैसी बातें मात्र अफवाहें हैं। किसी को ध्यान नहीं देना चाहिए।

कृपया आगे शेयर करें :

Related posts: